Broadband क्या है और कैसे काम करता है? | What is Broadband in Hindi 2022

0

broadband near me | broadband meaning in hindi | ब्रॉडबैंड कैसे काम करता है | ब्रॉडबैंड price | ब्रॉडबैंड के प्रकार | wi-fi kya hai | एयरटेल ब्रॉडबैंड क्या है | बीएसएनएल ब्रॉडबैंड नई कनेक्शन

नमस्कार दोस्तों आज किस आर्टिकल में हम लोग बात करेंगे कि ब्रॉडबैंड कैसे काम करता है इसके क्या-क्या प्रकार हैं हमें ब्रॉडबैंड कौन सी लेनी चाहिए किस ब्रॉडबैंड की सबसे ज्यादा स्पीड होती है इन सभी विषयों पर इस आर्टिकल में आगे बात करेंगे इसलिए आप इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें।

Broadband Kya Hai और कैसे काम करता है? आज के समय में लगभग सभी लोग इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं, और लगभग सभी कामों में इंटरनेट की आवश्यकता होती है. इसलिए सभी लोग इंटरनेट को फ़ास्ट स्पीड से एक्सेस करना चाहते हैं क्योंकि Slow इंटरनेट स्पीड होने के कारण कोई 10 मिनट का काम भी 1 घंटे ले लेता है. इंटरनेट को फ़ास्ट स्पीड से एक्सेस करने में कांसेप्ट आता है ब्रॉडबैंड का, ब्रॉडबैंड के द्वारा यूजर इंटरनेट को उच्च गति से एक्सेस कर पाता है।

Subscribe YoutubeClick Here
Telegram JoinClick Here
Follow on TwitterClick Here
Join on PinterestClick Here
Website HomepageClick Here

Broadband क्या है और कैसे काम करता है? | What is Broadband in Hindi 2022

क्या आप जानना चाहते हैं Broadband क्या होता है, ब्रॉडबैंड काम कैसे करता है, ब्रॉडबैंड कितने प्रकार का होता है, ब्रॉडबैंड के फायदे और नुकसान क्या हैं और ब्रॉडबैंड क्यों लेना चाहिए. यदि हाँ तो इसके लिए आपको इस लेख को पूरा पढ़ना होगा। Broadband दर्शाता है high-speed internet access को। यानी की Broadband service हमें एक higher-speed की data transmission उपलब्ध करवाती है। यू कहें तो Broadband हमें प्रदान करती है highest quality internet services, जिससे हम कोई भी इंटर्नेट का काम बड़ी ही आसानी से और तेज़ी से कर सकते हैं।

Broadband kya hai

यह एक जगह में fixed होने के कारण इसे बार बार बदला नहीं जा सकता है लेकिन ये घरों, स्कूल के लिए उपयुक्त होता है क्यूंकि ये कम कीमतों में बेहतर internet facility प्रदान करता है, और जिन्हें unlimited internet की जरुरत होती है। इसलिए आज मैंने सोचा की क्यूँ न आप लोगों को Broadband क्या है के विषय में पूरी जानकारी प्रदान करूँ जिससे आपको इस बेहतरीन internet technology के विषय में सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त हो सके तो फिर बिना देरी किये चलिए शुरू करते हैं और जानते हैं ब्रॉडबैंड क्या होता है हिंदी में।

ब्रॉडबैंड का मतलब क्या है (What is Broadband in Hindi)

Broadband का Full Form होता है Broad Bandwidth. यह एक high-speed Internet connection होता है जिसमें की wide band की frequencies का इस्तमाल किया जाता है Information को transmit करने के लिए. Broadband Internet connection की सुविधा कोई भी प्रदान कर सकता है चाहे वो एक telephone company हो, Internet service provider हो या फिर एक cable company हो।

ब्रॉडबैंड की कितनी स्पीड होती है?

आर्टिकलBroadband क्या है और कैसे काम करता है?
कनेक्शनसंचरण डेटा दर
DS-1 (टीयर 1)1.544 Mbps
E-12.048 Mbps
DS-3 (टीयर 3)44.736 Mbps
OC-3155.52 Mbps
OC-12622.08 Mbps
OC-482.488 Gbps
OC-1929.953 Gbps
OC-76839.813 Gbps
OC-153679.6 Gbps
OC-3072159.2 Gbps

Broadband Internet multiple data channels का इस्तमाल करता है information send करने के लिए subscribers’ networks के ऊपर. इस specific type की Internet connection को “always on” के नाम से भी describe किया जाता है क्यूंकि broadband Internet access technology हमेशा constantly connected ही होते हैं और ये telephone lines को block नहीं करती हैं।

ब्रॉडबैंड क्या है प्रकार और कैसे काम करता है (Broadband In Hindi)

Home broadband Internet users बड़े जल्दी ही Internet के साथ connect हो सकते हैं, और उन्हें logging off के बाद network के साथ reconnect होने की जरुरत ही नहीं होती है, इससे delay बहुत ही कम होती हैं. इसमें चूँकि wide band of frequencies available होती हैं, इसलिए information को multiplexed किया जा सकता है।

band की अलग अलग frequencies या channels में concurrently भेजा जाता है, जिससे ज्यादा information को transmit किया जा सकता है एक given amount of time में. उदाहरण के लिए किसी highway में जितनी ज्यादा lanes होंगी उतनी ही ज्यादा cars एक समय में travel कर सकती है उसी समय में वैसे Broadband के तो बहुत से अलग अलग प्रकार मेह्जुद हैं, लेकिन यहाँ हम उनमें से कुछ important types के विषय में जानने की कोशिश करेंगे।

ब्रॉडबैंड का मतलब क्या है (Broadband Meaning in Hindi)

ब्रॉडबैंड एक ऐसा शब्द है जो High Speed और High Bandwidth कम्युनिकेशन इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए इस्तेमाल किया जाता है. यह तेज इंटरनेट पहुँचाने के काम आता है। ब्रॉडबैंड का फुल फॉर्म Broad Bandwidth होता है जिसका हिंदी मतलब व्यापक बैंडविड्थ या ब्रॉडबैंड इंटरनेट अभिगम होता है। ब्रॉडबैंड पुराने डायल अप कनेक्शन में इस्तेमाल होने वाले सिंगल लाइन के स्थान पर कई सारी लाइन के द्वारा डेटा ट्रांसमिट करता है, जिससे कि यूजर उच्च गति से इंटरनेट एक्सेस कर पाता है।

ब्रॉडबैंड को आप एक Highway की तरह समझ सकते हैं जिसमें कई सारी लाइन है और कई गाड़ियाँ चल सकती हैं. यहाँ Highway वह लाइन हैं जिसके द्वारा डेटा ट्रांसमिट होता है और गाड़ियों को आप डेटा पैकेट समझ सकते हैं. ब्रॉडबैंड के माध्यम से एक समय में High Speed इंटरनेट कनेक्शन के द्वारा कई डेटा पैकेट को ट्रांसमिट किया जा सकता है।

ब्रॉडबैंड के प्रकार (Types of Broadband in Hindi)

Broadband कई प्रकार के होते हैं, जिनमें से 5 प्रमुख ब्रॉडबैंड जिनका इस्तेमाल सर्वाधिक किया जाता है उनके बारे में हमने आपको लेख में बताया है।

  • डीएसएल ब्रॉडबैंड (DSL Broadband)
  • केबल मॉडेम (Cable Modem)
  • फाइबर ऑप्टिक्स (Fiber Optics)
  • वायरलेस ब्रॉडबैंड (Wireless Broadband)
  • सॅटॅलाइट ब्रॉडबैंड (Satellite Broadband)

DSL

DSL का Full Form होता है Digital Subscriber Line. यह एक Wireless Transmission Technology होती है जो की data transmit करती है traditional copper telephone lines के ऊपर जो की already installed होते हैं घरों और businesses में DSL-based broadband जो transmission speeds प्रदान करती है वो range करती है several hundred Kbps से लेकर millions of bits per second (Mbps) तक।

वहीँ एक DSL connection में जो speed आप experience करते हैं वो इस बात पर निर्भर करती है की आपकी distance switching station से कितनी दुरी पर है. अगर आप ज्यादा दुरी पर स्तिथ होते हैं तब slower होगी वहीँ अगर आप switching station के निकट होंगे तब ये speed ज्यादा बढ़ जाएगी।

DSL transmission technologies के types के विषय में जानते हैं

  1. Asymmetrical Digital Subscriber Line (ADSL) – इन्हें primarily residential customers जैसे की Internet surfers (जो केवल browse करते हैं), जो बहुत सारे data तो receive करते हैं लेकिन बहुत ही कम send करते हैं. ADSL typically ज्यादा download stream speed प्रदान करती है Upstream speed के तुलना में. ADSL allows करती है।
  2. faster downstream data transmission उसी same line में जिसे की voice service के लिए इस्तमाल किया जाता है, बिना किसी regular telephone calls को disrupt किये उसी line में Symmetrical Digital Subscriber Line (SDSL) – इन्हें typically businesses में इस्तमाल किया जाता है, services जैसे की video conferencing, जिसमें की बहुत ही ज्यादा bandwidth की जरुरत होती है दोनों upstream और downstream के लिए।

DSL की Faster forms जो की typically available होते हैं businesses के लिए, उनमें नीचे दिए गए शामिल हैं

  • High data rate Digital Subscriber Line (HDSL)
  • Very High data rate Digital Subscriber Line (VDSL)

Cable

ये broadband cable connection को प्रदान किया जाता है local cable TV provider के द्वारा. यहाँ cable Internet connection speed vary करता है number of users के ऊपर जो की उस service के ऊपर एक specific point की time में होते हैं।

किसी एक specific geographical area में, अगर बहुत सारे users एकसाथ broadband cable service की connection bandwidth का इस्तमाल कर रहे हों या share कर रहे हों तब इससे speed में कमी दिखाई पड़ती है. ऐसा दिन के कुछ समय जैसे की शाम को होती है जब सभी लोग घर वापस आ जाते हैं और internet का इस्तमाल कर रहे होते हैं।

Cable modem service में cable operators broadband की सुविधा समान coaxial cables का इस्तमाल कर deliver करती है pictures और sound आपके TV set में ज्यादातर cable modems external devices होते हैं जिसमें दो connections होते हैं। एक cable wall outlet में, और वहीँ दूसरा एक computer में ये करीब of 1.5 Mbps या उससे ज्यादा की transmission speeds प्रदान करती है।

यह भी पढ़े >> Apple Inc. Kya Hai 2022 | What is Apple Company in Hindi ,और किसने बनाया है?

Subscribers इसमें अपने cable modem service को access कर सकते हैं simply अपने computers को चालू करके, बिना किसी ISP को dialing-up कर. इसमें आप cable TV भी देख सकते हैं internet के इस्तमाल करने के दौरान Transmission speeds vary करती है type of cable modem, cable network, और traffic load के ऊपर इसकी Speeds DSL के साथ comparable होती है।

Fiber-Optic

Fiber Optic एक नया broadband service है, जो की बहुत ही fast Internet connection प्रदान कर रहा है। Fiber optic technology में ये convert करता है electrical signals को light में जो की data carry कर रहे होते हैं।

जहां यह उपलब्ध रहता है, इंटरनेट से ब्रॉडबैंड कनेक्शन का यह तरीका यह संकेत देता है कि इंटरनेट का अभिगम बहुत तेज है। हालांकि, सिर्फ इसलिए कि ईथरनेट प्रदान किया जा रहा है का अर्थ यह नहीं है कि प्रत्यक्ष इंटरनेट अभिगम के लिए पूरे 10, 100 या 1000 Mbps का उपयोग किया जा सकता है। एक कॉलेज छात्रावास में, उदाहरण के लिए, 100 Mbps ईथरनेट अभिगम हो सकता है।

परिसर नेटवर्क के लिए पूरी तरह उपलब्ध हो, लेकिन इंटरनेट अभिगम बैंडविड्थ 4xT-1 डेटा दर (6 Mbit/s) के करीब हो सकता है। यदि आप एक इमारत में दूसरों के साथ ब्रॉडबैंड कनेक्शन साझा कर रहे हैं, तो इमारत में लीज्ड लाइन का अभिगमित बैंडविड्थ, बेशक उपयोगकर्ता के डेटा दर को संचालित करेगा।

कुछ स्थानों में, हालांकि, असली ईथरनेट ब्रॉडबैंड अभिगम उपलब्ध हो सकता है। यह एक POP या डेटा सेंटर पर सबसे सामान्य मामला होगा और किसी आम घर या व्यापार में नहीं. जब ईथरनेट इंटरनेट अभिगम प्रदान किया जाता है, तो यह फाइबर ऑप्टिक या तांबे की घुमावदार जोड़ी हो सकती है और बैंडविड्थ, 10 Gbps तक के मानक ईथरनेट डेटा दरों के अनुरूप होगा। प्राथमिक लाभ यह है कि ईथरनेट के लिए कोई खास हार्डवेयर की जरूरत नहीं है। ईथरनेट में विलंबता भी बहुत कम है।

Broadband kya hai

फिर वो उस light को send करते हैं transparent glass fibers के माध्यम से जिसकी diameter एक human hair के बराबर ही होती है. Fiber में data की transmitting speed current DSL और cable modem speeds को exceed करती है, typically करीब tens और even hundreds of Mbps तक भी. Telecommunications providers कभी कभी fiber broadband plans ऑफर करते हैं कुछ limited areas में ही और इन plans में वप bundled voice, Internet access, और video services जैसे कई plans को promote करते हैं।

यह भी पढ़े >> Facebook kya hai 2022 | फेसबुक कैसे चलाते हैं? फेसबुक की पूरी जानकारी हिंदी में

इस Fiber Optics की actual speed कई factors के ऊपर निर्भर करती है जैसे की service provider fiber को कितनी पास तक ले कर आता है system के पास, कैसे वो service provider service को configure करता है, साथ में कितनी amount को bandwidth का इस्तमाल किया गया है। वहीँ समान fiber जो की आपको broadband प्रदान करता है वो simultaneously deliver करता है voice (VoIP) और video services, जिसमें video-on-demand शामिल हैं।

ग्रामीण ब्रॉडबैंड

ब्रॉडबैंड के सामने एक बड़ी चुनौती है कम जनसंख्या घनत्व वाले क्षेत्रों में संभावित ग्राहकों के लिए इस सेवा को उपलब्ध कराना, जैसे कि किसान, चरवाहे और छोटे शहरों में. उन शहरों में जहां जनसंख्या घनत्व अधिक है, एक सेवा प्रदाता के लिए उपकरणों की लागत वसूल करना आसान है, लेकिन प्रत्येक ग्रामीण ग्राहक को हो सकता है जुड़ने के लिए महंगे उपकरण की आवश्यकता हो।

ग्रामीण ब्रॉडबैंड के कई समाधान मौजूद हैं, हालांकि प्रत्येक की अपनी सीमाएं और कमियां हैंतथ्य वांछित]. कुछ विकल्प दूसरों से बेहतर हैं, लेकिन पर निर्भर करती हैं कि स्थानीय फोन कंपनी, अपने ग्रामीण प्रौद्योगिकी के उन्नयन के लिए कितनी सक्रिय है।

वायरलेस इंटरनेट सेवा प्रदाता (WISPs), ग्रामीण क्षेत्रों के लिए तेज़ी से लोकप्रिय ब्रॉडबैंड विकल्प बनते जा रहे हैं। कृपया उद्धरण जोड़ें] इस तकनीक की दृष्टि-रेखा आवश्यकताएं, पहाड़ी और भारी वनाच्छादित इलाकों के कुछ क्षेत्रों में संपर्क बाधा उत्पन्न कर सकती हैं। हालांकि, टेगोला परियोजना, दूरस्थ स्कॉटलैंड में एक सफल प्रायोगिक कार्य, यह दर्शाता है कि बेतार एक व्यवहार्य विकल्प हो सकता है। इसके अलावा, हार्ड-वायर्ड जुड़ाव की तुलना में, कुछ सुरक्षा जोखिम हैं (जब तक कि मजबूत सुरक्षा प्रोटोकॉल को सक्षम नहीं किया जाता); गति काफी धीमी है (2-50 गुना धीमी) और नेटवर्क, अन्य वायरलेस उपकरणों से हस्तक्षेप, मौसम और दृष्टि-रेखा समस्याओं की वजह से कम स्थिर हो सकता है।

Wireless (वायरलेस)

  1. Wireless broadband connect करता है एक घर या business को Internet के साथ एक radio link के मदद से. यह customer के location को service provider के facility के साथ जोड़ता है. Wireless broadband या तो mobile या fixed हो सकता है।
  2. Wireless technologies जिसमें longer-range directional equipment का इस्तमाल होता है, उनमें broadband service को remote और कम populated areas तक आसानी से पहुँचाया जा सकता है जहाँ की DSL या cable modem service को implement करना ज्यादा costly हो सकता है।
  3. इनकी Speeds generally comparable होते हैं DSL और cable modem के साथ. इसमें लेकिन एक external antenna की जरुरत होती है।

Satellite – सैटेलाइट इंटरनेट

ठीक जैसे की satellites जो की हमारे धरती के चारों तरह घुमती है और हमें जरुरत के telephone और television service लिंक प्रदान करती है, ऐसे ही Satellite भी हमें broadband के लिए links प्रदान करती है Satellite broadband भी एक प्रकार का wireless broadband होता है, और इनका इस्तमाल remote और कम populated areas में internet प्रदान करने के लिए होता है।

Broadband kya hai

Satellite broadband में Downstream और upstream speeds बहुत से factors के ऊपर निर्भर करती है, जिसमें provider और service package purchased, consumer की line of sight उस orbiting satellite के साथ और weather इत्यादि शामिल हैं।

यह भी पढ़े >> [Easy Method] Airtel Call History Kaise Nikale | एयरटेल स्टेटमेंट कैसे निकाले?

Typically एक user download की speed करीब 500 Kbps तक और upload की speed करीब 80 Kbps तक प्राप्त कर सकता है। ये speeds DSL और cable modem के तुलना में बहुत काम होती है, लेकिन वहीँ ये 10 times तक faster होती है dial-up internet access के download speed की तुलना में ये Service disrupt हो सकती है extreme weather conditions में।

Broadband over Powerline (BPL)

BPL एक प्रकार की delivery होती है broadband की existing low- और medium-voltage electric power distribution network के ऊपर. BPL की speeds comparable होती हैं DSL और cable modem speeds के तुलना में. BPL की service को घरों में प्रदान किया जा सकता है existing electrical connections और outlets की मदद से।

BPL एक emerging technology है जो की बहुत ही limited areas में available होती है. इनकी बहुत ही ज्यादा significant potential है ज्युनकी power lines पहले से ही installed होते हैं, जो की प्रत्येक user के नए broadband facilities की जरुरत जो को आसानी से हल सकती हैं।

Internet broadband और landline को एक साथ active रखने वाले device का नाम क्या है?

Internet Broadband और landline को एक साथ active रखने वाले device का नाम है ADSL Filter. ये ADSL Line Filter या ADSL Low Pass Filter एक ऐसा device होता है जो की separate करता है Voice Signals को उन signals को जो की intended होते हैं ADSL modems के लिए. इन ASDL Filter का इस्तमाल कर आप एक phone को आसानी से connect कर सकते हैं एक modem के साथ एक ही socket में।

सेलुलर ब्रॉडबैंड

सेल्युलर फोन टॉवर बहुत व्यापक हैं और सेलुलर नेटवर्क द्वारा तीसरी पीढ़ी (3G) के नेटवर्क में कदम रखने के साथ ही, वे EVDO, HSDPA और UMTS जैसी प्रौद्योगिकियों का उपयोग करते हुए तेज़ डेटा का समर्थन कर सकते हैं।

इससे इंटरनेट के लिए ब्रॉडबैंड अभिगम की अनुमति, सेलफोन द्वारा, कार्डबस द्वारा, एक्सप्रेसकार्ड द्वारा, या USB सेलुलर मॉडेम द्वारा मिलती है, या सेलुलर ब्रॉडबैंड राउटर द्वारा भी जो सिर्फ एक सेलुलर कनेक्शन के इस्तेमाल से एक से अधिक कंप्यूटर को इंटरनेट से जुड़ने की अनुमति देता है।

पॉवर-लाइन इंटरनेट

यह सेवा जो अभी अपनी शैशवावस्था में है, संभव है अंततः ब्रॉडबैंड इंटरनेट डेटा को मानक हाई-वोल्टेज विद्युत लाइन से संचरण की अनुमति दे। हालांकि, इस प्रणाली में कई जटिल मुद्दे हैं, प्राथमिक यह है कि विद्युत् लाइनें आतंरिक रूप से एक बहुत शोर भरा वातावरण होती हैं। हर बार जब भी एक उपकरण चालू होता है या बंद होता है, वह लाइन में एक पॉप या क्लिक उपजाता है। ऊर्जा की बचत करने वाले उपकरण, लाइन में अक्सर कोलाहलपूर्ण समस्वर पेश करते हैं। इस प्रणाली को ऐसा डिज़ाइन किया जाना चाहिए कि वह इन प्राकृतिक संकेत अवरोधों से निपट सके और उनके आस-पास काम कर सके।

ब्रॉडबैंड के Advantages क्या है

Broadband भले ही थोड़ी age old technique हैं लेकिन फिर भी Broadband के बहुत से advantages हैं जिनके विषय में हम आगे जानने की कोशिश करेंगे।

Broadband kya hai

Cheap होते हैं

यदि हम Fixed Broadbands और mobile broadband की कीमतों में तुलना करेंगे तब हम यह देख सकते हैं की fixed broadband बहुत ही ज्यादा सस्ती होती है अगर हम उनके speed, data limit इत्यादि के विषय में विचार करेंगे तब।

यह भी पढ़े >> Jio Call History Details Online 6 Month Old | Jio ka Call Details Kaise Nikale? [Fast Tricks 2022]

Data Caps बड़े होते हैं

जहाँ ये Fixed Broadband में data caps में ज्यादा limitation नहीं होती है वहीँ Mobile Broadband में usage allowances के साथ साथ data caps में भी limitation होती है। इसलिए Fixed Broadband users अपने मन मुताबक चीज़ें download या upload कर सकते हैं. इन चीज़ों में इनकी कोई limit नहीं होती हैं।

Speed बहुत ही ज्यादा

Speed की अगर हम बात करें तब इस विषय में Broadband से कोई भी आगे नहीं है. Speed के मामले में fixed broadband सबसे highest speed प्रदान करती है।

Consistent होती है

इसमें connection एक line के साथ fixed होता है और इससे ये ज्यादा reliable बन जाता है दुसरे alternative mobile broadband के मुकाबले में. ऐसे में fixed broadband बाकियों के तुलना में बहुत ज्यादा बेहतर शाबित होता है।

ब्रॉडबैंड के Disdvantage क्या है

चलिए Broadband के कुछ disadvantages के विषय में जानते हैं।

Fixed होना

ये Broadband अक्सर fixed broadband होते हैं, जिन्हें की एक ही जगह में fix करके लगाया जाता है. इन्हें घर के चार दीवारों के भीतर ही लगाना पड़ता है. इसलिए इसे एक जगह से दुसरे में transfer करना मुस्किल होता है।

Line Rental होता है

अगर आपके घर में home phone (Landline) नहीं है और आप केवल broadband का ही इस्तमाल कर रहे हो internet के लिए तब भी आपको इस service का line rental pay करना होता है, जो की एक user के लिए costly होता है अगर वो कोई phone का इस्तमाल न कर रहे हों।

Switching में issues होता है

अगर आप आपके broadband service को किसी दुसरे service में switch करना चाहते हैं तब इसके लिए आपके थोडा बहुत समय लग सकता है कुछ technological issues होने के कारण. कई Companies इस change over के लिए ज्यादा time लगाते है और आपको उनके engineer के लिए extra charge भी कर सकते हैं. ऐसे में ये आपके लिए real frustration हो सकता है क्यूँ आपका broadband पूरी तरह से switch होने तक बंद रहता है।

Competition ज्यादा बढ़ गयी है

ये पाया गया है नयी mobile internet जैसे की 3G और 4G के आ जाने से ये सस्ते दामों में users को speed internet प्रदान कर रही है. वो दिन दूर नहीं जब 5G के launch होने से users पूरी तरह ही fixed broadband को भूल जांएगे क्यूंकि Mobile Broadband ज्यादा flexible और remote होते हैं, fixed के मुकाबले।

हम ब्रॉडबैंड क्यूँ लें

अक्सर लोगों के मन में ये आता है की वो Internet Connection के तोर पर Broadband का इस्तमाल क्यूँ करें. क्यूँ उन्हें Broadband का इस्तमाल करना सबसे उपयुक्त हैं. ऐसे में इसका एक आसान सा जवाब यह है की Broadband के बहुत सारे advantages होते हैं dial-up service की तुलना में।

यह भी पढ़े >> Ashok Leyland Kya Hai 2022 | क्या है अशोक लेलैंड का इतिहास ,What is Ashok Leyland in Hindi

Broadband Internet में data को बहुत ही ज्यादा higher speed में transmit किया जा सकता है. जिससे ज्यादा content को बहुत ही कम समय में transfer किया जा सकता है. इसके अलावा content transmission में बहुत कम delay होता है Messages को आप sent और फिर receive कुछ seconds में कर सकते हैं।

Internet speeds में बढ़ोतरी होने से लोगों का business करने का तरीका और एक दुसरे के साथ communicate करने में बहुत फरक देखा गया है. अभी के समय की बात करें तब आज का ज़माना high-speed Internet का है, अभी के World Wide Web users इस Fast और uninterrupted service के accustomed हो गए हैं उन्हें दैनिक कार्यों के लिए. वहीँ broadband Internet में हो रहे development से लोगों को fast internet सहजता से मिल पा रहा है बाकियों के तुलना में. इसलिए Broadband Connection की जरुरत हम सभी internet users को ज्यादा है।

Broadband Related FAQs

ब्रॉडबैंड का मतलब क्या होता है?

ब्रॉडबैंड बड़े स्तर के बैंडविड्थ डेटा ट्रांसमिशन का काम करता है। इंटरनेट को ऐसे डेटा के रूप में सोच सकते हैं जो दो डिवाइस के बीच भेजा जा रहा होता है। इस तरीके से, ब्रॉडबैंड वह है रास्ता जिसके ज़रिये डेटा घूमता रहता है। आज के समय में अनेकों तरीके के ब्रॉडबैंड कनेक्शन होते हैं – ASL, DSL, केबल, फाइबर, आदि।

वाईफाई और ब्रॉडबैंड में क्या अंतर है?

वाई-फाई वायरलेस कनेक्टिविटी है जो इंटरनेट कनेक्शन प्रदान करने के लिए रेडियो तरंगों का उपयोग करती है। ब्रॉडबैंड ओपन कनेक्टिविटी है जिसमें हाई स्पीड इंटरनेट कनेक्शन हमेशा उपलब्ध रहता है।

ब्रॉडबैंड तकनीक क्या है?

Broadband दर्शाता है high-speed internet access को। यानी की Broadband service हमें एक higher-speed की data transmission उपलब्ध करवाती है। यू कहें तो Broadband हमें प्रदान करती है highest quality internet services, जिससे हम कोई भी इंटर्नेट का काम बड़ी ही आसानी से और तेज़ी से कर सकते हैं।

is dsl ब्रॉडबैंड

डीएसएल की सटीक परिभाषा एक हाई-स्पीड इंटरनेट कनेक्शन है जो आपकी मौजूदा टेलीफोन लाइन के माध्यम से काम करता है। यह कई प्रकार के ब्रॉडबैंड इंटरनेट कनेक्शनों में से एक है । ब्रॉडबैंड हाई-स्पीड ट्रांसमिशन तकनीकों को संदर्भित करता है, जिसमें न केवल डीएसएल बल्कि फाइबर, केबल और अन्य भी शामिल हैं।

Previous articleTelegram Channel Members कैसे बढ़ाएं | How to Increase Telegram Channel Members in hindi (2022)
Next articleAshok Leyland Kya Hai 2022 | क्या है अशोक लेलैंड का इतिहास ,What is Ashok Leyland in Hindi
प्रिय पाठको वेबसाइट पर उपलब्ध जानकारी केवल सूचना के उद्देश्यों के लिए है, हम जानकारी की सटीकता, मूल्य या पूर्णता की कोई गारंटी नहीं लेते हैं, और जानकारी में किसी भी त्रुटि, चूक, या अशुद्धि के लिए हम जिम्मेदार या उत्तरदायी नहीं होंगे। हम आधिकारिक तौर पर वेबसाइट पर उल्लिखित किसी भी ब्रांड, उत्पाद या सेवाओं से संबंधित होने का दावा नहीं करते है। वेबसाइट पर उपयोग किए गए चित्र, नाम, मीडिया या लिंक केवल संदर्भ और सूचना के उद्देश्य के लिए हैं।