Mukhyamantri Civil Seva Protsahan Yojana Bihar 2023 | बिहार सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना रजिस्ट्रेशन, पात्रता व लाभ

0

Bihar Mukhyamantri Civil Seva Protsahan Yojana 2023 | e kalyan | bpsc | medhasoft | पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग, बिहार सरकार | मुख्यमंत्री अत्यंत पिछड़ा वर्ग मेधावृत्ति योजना | बिहार में अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति कल्याण विभाग

सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना बिहार ऑनलाइन आवेदन, आवेदन फॉर्म | सिविल सर्विस प्रमोशन योजना, पात्रता एवं लाभ के लिए पंजीकरण कैसे कराएं- देश के युवा नागरिकों को शिक्षा के प्रति प्रोत्साहित करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा विभिन्न योजनाओं व परियोजनाओं को सुचारू रूप से चलाया जा रहा है। हाल ही में बिहार राज्य सरकार ने भी इस दिशा में महत्वपूर्ण कदम उठाते हुए सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना शुरू की है, जिसके माध्यम से राज्य के सिविल सेवा उत्तीर्ण छात्रों को प्रोत्साहन राशि उपलब्ध कराई जाएगी।

Follow Us

Join Youtube ChannelClick Here
Join Telegram GroupClick Here
Join on FacebookClick Here
Follow on TwitterClick Here

इस योजना का सुचारू संचालन बिहार सरकार के अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति कल्याण विभाग द्वारा किया जायेगा। आज इस लेख के माध्यम से हम आपके साथ बिहार सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना 2023 से संबंधित सभी आवश्यक जानकारी साझा करेंगे, जैसे:- उद्देश्य, लाभ, विशेषताएं, पात्रता मानदंड, आवश्यक दस्तावेज, आवेदन प्रक्रिया आदि।

सिविल सेवा परीक्षा अभ्यार्थियों को कोचिंग के लिए बिहार सरकार आर्थिक मदद देती है। यूपीएसई परीक्षा का प्रिलिम्स पास करने पर 1 लाख और बीपीएससी प्री पास करने पर 50 हजार रुपये दिए जाते हैं।

Mukhyamantri Civil Seva Protsahan Yojana

Mukhya mantri Civil Seva Protsahan Yojana Bihar – Highlights

योजना का नामबिहार सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना
आरम्भ की गयीअनुसूचित जाती एवं अनुसूचित जनजाति कल्याण विभाग,  बिहार द्वारा 
वर्ष 2022
लाभार्थी   राज्य के अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति एवं अत्यंत पिछड़ा वर्ग के अभ्यार्थि
आवेदन की प्रक्रियाऑनलाइन/ऑफलाइन 
उद्देश्य सिविल सेवा परीक्षा उत्तीर्ण करने हेतु प्रोत्साहित करना 
लाभप्रोत्साहन राशि
श्रेणी बिहार सरकारी योजनाएं 
आधिकारिक वेबसाइटFts.bihar.gov.in

Bihar Mukhyamantri Civil Seva Protsahan Yojana बिहार सरकार ने राज्य के होनहार युवाओं के लिए मुख्यमंत्री सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना की शुरूआत की है जिसके तहत बच्चों को कोचिंग के लिए वित्तीय सहायता दी जाती है। राज्य के एसटी/एससी कल्याण विभाग द्वारा लागू इस योजना के तहत एससी और एसटी उम्मीदवार जो यूपीएससी और बीपीएससी परीक्षाओं का प्री यानी प्रारंभिक स्तर पास करते हैं उन्हें मेन्स की कोचिंग के लिए वित्तीय सहायता दी जाती है।

इस योजना को शुरू करने के पीछे का उद्देश्य ये है कि जो बच्चे प्री पास कर लेते हैं उन्हें मेंन्स की परीक्षा के लिए कोचिंग करना पड़ता है। ऐसे में वित्तीय रूप से कमजोर होने की स्थिति में बच्चे पिछड़ जाते हैं और उनका सपना अधूरा रह जाता है। इसी को ध्यान में रखते हुए सरकार द्वारा इस योजना को शुरू किया गया है जिसके तहत प्रिलिम्स पास कर लेने वाले बच्चे को कोचिंग के लिए वित्तीय सहायता जाती है।

बिहार सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना के तहत दिशा-निर्देश

  • आवेदकों को सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना के तहत फॉर्म ई-फाइलिंग के लिए पंजीकरण करना आवश्यक है।
  • अगर आप इस योजना के तहत लॉगिन करना चाहते हैं तो आपको यूजर आईडी और पासवर्ड का इस्तेमाल करना होगा।
  • आवेदक पात्र नागरिकों को इस योजना के लिए आवेदन करने के लिए केवल एक आवेदन पत्र भरना होगा।
  • आवेदन पत्र भरने के बाद, अपने आवेदन पत्र को अच्छी तरह से सत्यापित कर लें, क्योंकि अंतिम रूप से जमा करने के बाद इसमें कोई बदलाव नहीं किया जाएगा।
  • अपना आवेदन पत्र सत्यापित करने के बाद, आपको आवेदन करने के लिए सबमिट विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • आप अपने आवेदन फॉर्म को ड्राफ्ट की तरह प्रिंट भी कर सकते हैं।
  • आवेदन करने के बाद एप्लीकेशन आईडी प्राप्त होगी।
  • केवल अंतिम रूप से प्रस्तुत आवेदनों पर ही विचार किया जाएगा।
  • आवेदन पत्र की सत्यापित छायाप्रति अपने पास रखें।
  • आवेदन पत्र में फोटो का आकार 50 केबी से कम होना चाहिए। और हस्ताक्षर का आकार 20 केबी से कम होना चाहिए।
  • यदि आवेदकों को आवेदन करते समय किसी तकनीकी समस्या का सामना करना पड़ता है, तो वे “कृपया अनुरोध भेजें” विकल्प पर क्लिक कर सकते हैं।
  • जो यूपीएससी के लिए आवेदन कर चुके हैं। बीपीएससी के लिए आवेदन करने के लिए आप एक ही लॉगिन आईडी और पासवर्ड का उपयोग कर सकते हैं।

बिहार सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना 2023 के लाभ और विशेषताएं

  • नागरिक सेवा प्रोत्साहन योजना राज्य सरकार के अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति कल्याण विभाग द्वारा शुरू की गई एक प्रकार की प्रोत्साहन योजना है।
  • इस योजना के तहत बिहार राज्य के अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति एवं अति पिछड़ा वर्ग के अभ्यर्थियों को प्रोत्साहन राशि प्रदान की जायेगी।
  • बिहार सरकार की इस योजना के माध्यम से राज्य के अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति एवं अति पिछड़ा वर्ग के छात्र-छात्राओं को सिविल सेवा की प्रारंभिक परीक्षा में सफल होने पर प्रोत्साहन राशि प्रदान की जायेगी.
  • इस योजना के माध्यम से बिहार राज्य के सामान्य एवं पिछड़े वर्ग की बेटियों एवं अल्पसंख्यक समाज के छात्र-छात्राओं को भी लाभान्वित किया जायेगा।
  • साथ ही इस योजना से कुल 22 महिला अभ्यर्थियों को लाभान्वित किया गया।
  • बिहार राज्य सरकार की इस योजना के अंतर्गत मिलने वाले लाभ प्राप्त करने के लिए राज्य के इच्छुक छात्रों को योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आवेदन करना होगा।
  • सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना 2022 के तहत मिलने वाले लाभ बिहार राज्य के इच्छुक उम्मीदवार केवल एक बार ही प्राप्त कर सकते हैं।
  • इस योजना के माध्यम से, संघ लोक सेवा आयोग, नई दिल्ली द्वारा आयोजित सिविल सेवा प्रतियोगी परीक्षा की प्रारंभिक परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद राज्य के छात्रों को प्रोत्साहन के रूप में 1 लाख रुपये की एकमुश्त राशि उपलब्ध कराई जाती है।
  • इसके साथ ही बिहार लोक सेवा आयोग, पटना द्वारा आयोजित संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा की प्रारंभिक परीक्षा में सफल होने पर अभ्यर्थियों को 50 हजार रुपये की प्रोत्साहन राशि उपलब्ध करायी जाती है.
  • राज्य सरकार द्वारा हितग्राहियों को प्रदान की जाने वाली प्रोत्साहन राशि की यह राशि सीधे उनके बैंक खातों में अंतरित की जाती है।

सामान्य वर्ग की महिला उम्मीदवारों के लिए पात्रता और शर्तें

  • सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना के तहत आवेदन करने के लिए महिला बिहार राज्य की मूल निवासी होनी चाहिए।
  • महिला बिहार सरकार द्वारा अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अति पिछड़ा वर्ग श्रेणी से संबंधित नहीं होनी चाहिए।
  • महिला को संघ लोक सेवा आयोग, नई दिल्ली द्वारा आयोजित सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा उत्तीर्ण होना चाहिए।
  • सिविल सेवा प्रोन्नति योजनान्तर्गत इस योजना का लाभ किसी भी अभ्यर्थी को केवल एक बार ही दिया जायेगा।
  • किसी भी सरकारी/राज्य सरकार द्वारा वित्तपोषित संस्थान/सार्वजनिक उपक्रम/आदि में नियुक्त की गई सेवा में पहले से कार्यरत अभ्यर्थियों को इस योजना के तहत लाभ नहीं दिया जाएगा।

Bihar Mukhya Mantri Civil Seva Protsahan Yojana 2023

पिछड़े वर्ग के होनहार बच्चों को उचित प्रोत्साहन और समर्थन – राज्य उन उम्मीदवारों को प्रोत्साहन प्रदान करेगा जो सरकारी प्रशासनिक सेवाओं की नौकरियों में शामिल होने के इच्छुक हैं। प्रोत्साहन नकद पुरस्कार के रूप में दिया जाएगा।

यूपीएससी और बीपीएससी उम्मीदवारों के लिए – इस योजना में केवल उन्हीं उम्मीदवारों को शामिल किया जाएगा जिन्होंने संघ लोक सेवा आयोग और बिहार लोक सेवा आयोग दोनों परीक्षाओं के प्रारंभिक स्तर को सफलतापूर्वक पार कर लिया है।

उम्मीदवारों के लिए नकद इनाम – यूपीएससी परीक्षा के प्रारंभिक स्तर पास करने वाले आवेदकों को 1 लाख की वित्तीय सहायता प्राप्त होगी। यदि आवेदक ने बीपीएससी के प्राथमिक स्तर को पार कर लिया है, तो उसे 50 हजार रुपये नगद पुरस्कार दिया जाएगा। नकद एक ही किस्त में भुगतान किया जाएगा।

यह भी पढ़े >> Mukhyamantri Kanya Utthan Yojana 2023 

योजना के लिए पात्रता

इस योजना का लाभ केवल उन्हीं उम्मीदवारों को दिया जाएगा जो बिहार के निवासी हैं। यदि उम्मीदवार के पास इस राज्य में जारी आवासीय कागजात नहीं है, तो वह आवेदन नहीं कर सकता है। इस योजना का लाभ केवल अनुसूचित जनजाति और अनुसूचित जाति के उम्मीदवारों को दिया जाएगा। इस कार्यक्रम के तहत सामान्य या ओबीसी उम्मीदवार आवेदन नहीं कर सकते हैं। इस नकद पुरस्कार योजना के लिए जरूरी है कि आवेदक यूपीएससी या बीपीएससी प्रतियोगी परीक्षा का प्रारंभिक स्तर पास किया हो।

योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • उम्मीदवार को पता प्रमाण पत्र देना होगा जिससे ये साबित हो कि आवेदक बिहार के निवासी हैं।
  • सभी उम्मीदवार जो इस योजना के लिए आवेदन करना चाहते हैं, उन्हें अपने दस्तावेजों की फोटोकॉपी जमा करनी होगी, जिसमें नाम, आयु, पता, लिंग और संबंधित विवरण शामिल हों।
  • अन्य दस्तावेजों के अलावा उम्मीदवार को आधार कार्ड की एक प्रति जमा करना जरूरी है।
  • आवेदक को अपने यूपीएससी या बीपीएससी प्रारंभिक परीक्षा के एडमिट कार्ड की कॉपी भी जमा करनी होगी।
  • प्रारंभिक स्तर की परीक्षा की मार्कशीट या ऐसे किसी भी दस्तावेज की कॉपी जमा करना अनिवार्य है जो यह सुनिश्चित करता है कि उम्मीदवार ने वास्तव में यूपीसीएस या बीपीएससी परीक्षा का प्री पास किया है।
  • चूंकि यह योजना केवल अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के विकास के लिए बनाई गई है, इसलिए प्रत्येक उम्मीदवार को अपने जाति प्रमाण पत्र की एक फोटोकॉपी जमा करनी होगी।
  • चूंकि खाते में नकद इनाम भेजा जाएगा इसलिए योग्य उम्मीदवारों को आवेदन पत्र के साथ बैंक खाते का विवरण देना होगा। पासबुक की फोटोकॉपी स्वीकार की जाएगी।

बिहार सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना आवेदन करने की प्रक्रिया

बिहार राज्य के ऐसे इच्छुक छात्र जो Civil Seva Protsahan Yojana के अंतर्गत मिलने वाले लाभों को प्राप्त करने हेतु आवेदन करना चाहते है, उन्हें निम्न दिशा-निर्देशों का पालन करना अनिवार्य होगा:

  • सबसे पहले आपको सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। अब आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुल कर आ जायेगा।
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको “न्यू रजिस्ट्रेशन” के विकल्प पर क्लिक कर देना होगा। इसके बाद आपके स्क्रीन पर एक नया पेज प्रदर्शित हो कर आ जायेगा।
  • अब आपको इस नए पेज पर पूछी गयी सभी आवश्यक जानकारी, जैसे:- आवेदक का नाम, लिंग, वैवाहिक स्थिति, पिता का नाम, जन्म की तारीख, श्रेणी, जाति, ईमेल आईडी, मोबाइल नंबर, पासवर्ड आदि के विवरण दर्ज कर देने होंगे।
  • इसके बाद आपको “सबमिट” के विकल्प पर क्लिक कर देना होगा। अब आपको “रजिस्टर्ड यूजर क्लिक हियर टू लॉगिन” के विकल्प पर क्लिक कर देना होगा।
  • अब आपके स्क्रीन पर एक लॉगिन फॉर्म प्रदर्शित हो कर आ जायेगा। इसके बाद आपको इस लॉगिन फॉर्म में अपनी यूजर आईडी, पासवर्ड एवं कैप्चा कोड के विवरण दर्ज कर देने होंगे।
  • उसके बाद आपको “सबमिट” के विकल्प पर क्लिक कर देना होगा। अब आपके सामने एक पंजीकरण आवेदन पत्र खुल कर आ जायेगा।
  • अब आपको इस पंजीकरण पत्र में पूछी गयी सभी आवश्यक जानकारी के विवरण दर्ज कर देने होंगे। उसके पश्चात आपको माँगी गयी सभी आवश्यक दस्तावेजों को अपलोड कर देना होगा।
  • इसके बाद आपको “सबमिट” के विकल्प पर क्लिक कर देना होगा, जिसके बाद आप Civil Seva Protsahan Yojana 2023 के अंतर्गत आवेदन कर सकेंगे।